आज सुबह बॉलीवुड के मशहूर गायक सोनू निगम ने धर्म के बारे में ट्वीट किए। ऐसा लगता है कि सोनू निगम ने अज़ान के आवाज़ से काफी चिढ़ गए हैं और अंततः उसके प्रति आवाज उठाई।

उनके ट्वीट अज़ान या सुबह सुबह जागने वाली प्रार्थना करने के बारे में शिकायत करते हैं। उन्होंने ट्वीट्स की एक श्रृंखला में किसी भी धर्म में लाउडस्पीकरों के इस्तेमाल के खिलाफ सवाल उठाए। अज़ान, मंदिरों और गुरुद्वारों में लाउडस्पीकर के इस्तेमाल के खिलाफ सोनू निगम ने लगातार चार ट्वीट्स किए हैं। ये ट्वीट्स हैं …

“भगवान सभी को आशीर्वाद दें। मैं मुस्लिम नहीं हूं और मुझे सुबह अज़ान से जागृत होना पड़ता है। भारत में जबदस्ती थोपी गयी धार्मिकता कब बंद होगी”

“और हां, मोहम्मद ने जिस समय इस्लाम की स्थापना की थी उस समय बिजली नहीं थी … तो फिर एडीसन के बाद इस कर्कशता का क्या कारण है?”

“मैं किसी भी मंदिर या गुरुद्वारा में बिजली का उपयोग करने पर विश्वास नहीं करता, जो उनलोगों को जागृत करते है जो उस धर्म का पालन नहीं करते हैं। फिर क्यों .. ईमानदार? सच?”

“गुंडागर्दी है बस …”

सोनू निगम के ट्वीट ने ट्विटर पर बहस को दावत दे दी है, जिसमें कई समर्थन कर रहे है तो कई लोग आलोचनाएं कर रहे हैं।